Mr Shayar Online's Half-Love Story

My Half Love-Story

In 2005, a shy 5th-grader noticed a girl dancing, sparking a crush that lasted over a decade. Despite assumptions about her relationship with a friend, he never spoke to her until post-graduation. Mustering courage, he confessed via a voice message. She respectfully acknowledged his feelings, complimenting his voice, and he reflected on the value of his shyness.
नारी का सम्मान। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

नारी का सम्मान।

जिसके मन में नारी का सम्मान होता है,वो ही सच्चे अर्थ में इंसान होता है। नारी ही तो धर्म, संस्कृति, राष्ट्र का आधार हैनारी को जो ठुकरा दे उसपर तो…

बारिश का वो एक दिन।

बारिश का वो एक दिन कुछ यूं यादगार बन गया,ना चाहा था जिसे इस तरह, वो मेरा दिलदार बन गया। मासूमियत ना थी उसमें, था थोड़ा सा लड़कपनडर ना किसी…
किसी रोज़। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

किसी रोज़।

किसी रोज़ दस्तक जो दिल पर हुई तो,याद आयी अचानक वो महफ़िल दोबारा,वो रस्ते, वो गलियां, थे जिनसे हम गुज़रेसाथ था एक चेहरा जो दिल में उतारा। हवाएं भी सहला…
वो संवरती रही, मैं बिखरता रहा। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

वो संवरती रही, मैं बिखरता रहा।

इस क़दर प्यार उससे मैं करता रहा,वो संवरती रही मैं बिखरता रहा।मन ही मन अनगिनत सपने बुनता रहा,वो संवरती रही, मैं बिखरता रहा। उसकी ही बातें थीं बातों में मेरीबिन…
मैं चलता रहूंगा। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

मैं चलता रहूंगा।

गिरूं चाहे कितनी ही दफा,हर बार उठकर संभलता रहूंगामैं चलता रहूंगा।आएं भले कितनी ही कठिनाईयां,उन मुश्किलों से निकलता रहूंगामैं चलता रहूंगा। बहुत डर चुका अपनी राहों से अबतकजब चलना ही…

मुझे खोने के बाद।

मत रखना मुझको तू यादमुझे खोने के बाद।बदल जाएंगे तेरे भी हालातमुझे खोने के बाद। गहराई मेरी चाहत की,जान जाएगी पूरी कायनातमुझे खोने के बाद। तेरा तुझ जैसे किसी पर…
Holi Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

होली

फागुन का ये महीना पावन, लगे शीतल चंदन रोलीपूर्णिमा के अगले दिन ही, आनंदपूर्ण आती होली। प्रीति भाव से हैं प्रसन्न सब, सृष्टि ये सारी भोलीविष्णु भक्त प्रहलाद विजय से,…
कभी तो। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

कभी तो।

कभी तो ज़िन्दगी महसूस करेगी मेरे एहसासों को,कभी तो बिन कहे ही समझ सकेगा कोई मेरी बातों को,कभी तो ख़तम हो जाएगी तलाश किसी की मुझे,कभी तो भूल जाऊंगा सब…
रक्तदान की महिमा। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

रक्तदान की महिमा।

तुमसे विनती है कि अबसे और ना तुम अभिमान करो,जीवन में कम से कम अपने एक बार रक्त दान करो।कर लिया बहुत कुछ जीवन में, अब ये काम महान करो,जीवन…
तुम नहीं समझोगी। Poetry Hindi Poem Hindi Kavita

तुम नहीं समझोगी।

किस तरह हर पल मेरा दिल तुम्हें याद करता है,तुम नहीं समझोगी!हर घड़ी तुमसे मिलने की फ़रियाद करता है,तुम नहीं समझोगी! मन मचलता है, दिल में एक मीठी सी चुभन…